गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baat / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi


    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi


    लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन (Larry Page & Sergey Brin) द्वारा स्थापित इस Company/Organisation की एक Baat काबिले-तारीफ है कि इसने कभी-भी सिर्फ अपना Multi-Dollar Business खड़ा Karne के लिए Kam नहीं Kiya, Jaisa कि दूसरी ज़्यादातर कम्पनियां Karti हैं।
    दूसरी कम्पनियों के पदचिन्हों पर न चलते हुए गूगल ने धीरे-धीरे अपनी बेहतर Service के दम पर  User/Client का भरोसा जीता और User/Client का प्यार पाकर Online Market के बड़े हिस्से Par अपनी सेवाएं प्रदान Karna शुरु Kar दिया।
    ख़ुद के साथ ही साथ करोड़ो User/Client को Successful बनाने में मदद Karne वाली Company/Organisation गूगल की ऐसी सैकड़ों Unique Baatें हैं, जिनसे as a professional person or as a Company/Organisation हम काफी कुछ सीख सकते हैं।
    इन्ही सैकड़ों Baatों में से हम चुनकर लाये हैं कुछ Most Importants Points, जो as a Company/Organisation Aage बढ़ने में आपकी मदद कर सकती हैं। कौन-कौन सी हैं वो चीज़ें आइए जानते हैं-

    • स्थापना (founded)-  15 सितम्बर 1998, कैलिफोर्निया, अमेरिका

    • संस्थापक (founders)-  लैरी पेज व सर्गेई ब्रिन

    • पुराना नाम (Old Name)-  Backrub (1997-98)

    • मालिक Company/Organisation (Parent Corp)-  Alphabet Inc.

    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi


    1)• User/Client को बेहतर Services प्रदान करना:


    आपने Bahut सारी companies को देखा होगा, जो अपनी Services या Products को use Karne के लिए User/Client को लुभावने ऑफर देती रहती है।
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi

    जैसे- हमारे e-Wallet से रीचार्ज Karne Karne पर Aapko मिलेगा ₹1000 का कैशबैक या फिर हमारे App का Pro Version अब चलाइये एक साल तक बिल्कुल फ्री etc.
    Lekin क्या आपने कभी गूगल को Is तरह के Offer देते हुए देखा है?
    Shyad ही Koi व्यक्ति इस Sawal का जवाब हाँ में देगा।
    यह गूगल की एक खास Baat है कि इसे अपनी Services User/Client तक नहीं पहुंचानी पड़ती है बल्कि लोग इसकी Services का Use Karne खुद ही इस पर चले आते हैं।
    इसके पीछे सबसे बड़े दो Karan हैं–
    इसकी Service की गुणवत्ता (Quality of its Services) तथा
    User/Client की संतुष्टि (Great User Satisfaction)
    आज आप गूगल की किसी भी सेवा को उठाकर देख लीजिये, चाहे वो Gmail हो, गूगल Search इंजन हो या फिर Chrome Browser हो। इन सभी चीजें में हमें Quality और User Satisfaction साफ-साफ दिख जाता है।
    User/Client को बेहतर ऑनलाइन सेवाएं प्रदान Karne में आज भी गूगल का कोई सानी नहीं है। क्यों न इस Company/Organisation से इसकी यह Baat सीखकर हम अपनी Services पर लागू करें और अपने Users/Customer को खुश होने की एक छोटी सी वजह दे दें।


     2)• अपने Users/Customer का विश्वास जीतना:


    Aaj लोग गूगल की Service Par आंख मूंदकर Bharosa करते हैं। हमें Lagta है, कि गूगल Jo Bhi कर रहा है या करेगा, बिल्कुल Thik ही करेगा।

    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi


    ऐसा क्यों?
    मेरे हिसाब से ऐसा इसलिए है क्योंकि हम already कई बार गूगल की Service और सपोर्ट सिस्टम को अच्छी तरह परख चुके हैं, उसे जांच चुके हैं। और सबसे अच्छी Baat तो यह है Ki इस दौरान हमें Bahut ही कम परेशानियों का सामना करना Pada ।
    यही Karan है जिसके दम पर गूगल हमारा भरोसा जीत चुका है और आज हमें उसकी services को प्रयोग करते वक़्त कोई हिचकिचाहट नहीं होती है।
    हम भी as a Company/Organisation अपनी services & support system को दुरुस्त करके गूगल की तरह ही अपने Users/Customer का भरोसा जीत सकते हैं।


    3)• धीरे-धीरे अपनी Services बढ़ाना:


    क्या Karan है कि 2 सितम्बर 1997 को एक सर्च इंजन के रूप में उभरा गूगल आज एक महाCompany/Organisation गूगल Inc. बन चुका है?
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi

    मेरे हिसाब से, इसके पीछे की कुछ सबसे बड़ी वजहों में से एक है- इसकी Service का निरंतर विस्तार (Continuous Expansion of its services)
    सन 2000 तक स्वयं को एक Popular Search Engine के रूप में स्थापित कर लेने के बाद गूगल ने आहिस्ता-आहिस्ता अपने दायरे को बढ़ाना शुरू कर दिया।
    YOUTUBE, BLOGSPOT जैसे कुछ नामी Brands को खरीदकर और Android, Gmail, Chrome, Drive की तरह Bahut सारी useful services develop करके गूगल ने स्मार्टफोन सॉफ्टवेयर जगत में अपनी बादशाहत कायम की ठीक; ठीक वैसे ही जैसे MicroSoft ने कुछ दशक पूर्व कंप्यूटर सॉफ्टवेर जगत में अपनी monopoly create की थी।
    Lekin क्या गूगल ने अपनी Sari सेवाएं एक Sath शुरू की?
    नहीं, बिल्कुल नहीं! बल्कि इसके बजाय, पहले उसने खुद की वर्तमान Services को User/Client के मन में स्थापित किया, उसके बाद ही उसने धीरे-धीरे अपने कदम बाहर की ओर बढ़ाए।
    ऐसा ही हम अपने Blog, Vlog/YT Channel या Comapny के साथ कर सकते हैं। एकदम से Bahut सारी चीजों को शुरू Karne के बजाय, अगर हम धीरे-धीरे अपनी सेवाएं बढ़ाएं तो हमारे Ventures के सफल होने के chances काफी हद तक बढ़ जाते हैं।


    4)• असफलता को स्वीकारना और Aage बढ़ना:


    कई सारे User/Client को लगता है कि गूगल ऐसी Company/Organisation है, जिसका कोई भी product आज तक fail नहीं हुआ है। जो कि सरासर गलत है।
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi

    Shyad आप यह जानते होंगे, कि दो दशक से भी ज़्यादा पुरानी Company/Organisation गूगल ने Social Media Market में आने की Bahut कोशिशें की, मगर दुर्भाग्य से, हर बार वह असफल हो गई।
    Orcut (2004-2014), गूगल Buzz (2010-11) औऱ गूगल+ (2011-2019 मे) कुछ ऐसे ही नाम है जिनके दम पर गूगल Social Media Giant फेसबुक को टक्कर देना चाहती थी।
    लेकिन क्या गूगल को इन failures से कुछ ज़्यादा फर्क पड़ा?
    A Big Fat NO!
    बल्कि गूगल ने इससे Shyad यह Baat सीखी होगी कि वह Social Media के लिए बनी ही नही है, बल्कि उसे तो Pure Internet के लिए कुछ Unique Karne के लिए बनाया गया है।
    अगर हम भी अपने professional failures को इस perspective से देखें , तो हमारे और हमारे Ventures के grow Karne के chances कई गुना बढ़ जाते हैं।


    5)• पांव जमीन पर टिकाए रखना:


    आपने आजकल कई छोटी-छोटी companies को देखा होगा जो कि अपनी services (App, Software) को use Karne के लिए यूजर से Bahut ज़्यादा Paise की demand करती है। ये demand उनकी services की तुलना में कई ज़्यादा होती है।

    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi


    वही दूसरी तरफ, गूगल इतनी बड़ी कंपनी होने के बावजूद भी अपनी services को use Karne के लिए (ज़्यादातर cases में) सीधे user से Paise नहीं लेता है। इसके बजाय वह किसी Third Party (Advertiser) को अपने साथ जोड़कर उससे Paise लेकर अपनी कमाई करता है।
    इसी Karan Gmail, YouTube और गूगल Drive (16 GB तक) जैसे premium services आज भी User/Client द्वारा free of cost use की जा रही हैं।
    इसके साथ ही गूगल की हर सेवा बिल्कुल simple और user friendly होती है। उसमें चीज़ें बिना किसी ढोंग के point-to-point लिखी होती हैं।
    क्या गूगल की इस खूबी को हम अपनी Organisation की service में शामिल कर सकते हैं?
    ये Sawal अपने मन से एक Bar जरूर पूछिये..


     6)• सख्त कायदे कानून (Policies) बनाना-


    गूगल को अपनी simplicity के अलावा एक और चीज़ के लिए भी जाना जाता है, जो है– इसके कड़े कायदे-कानून (Strict Policies)
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi

    गूगल ने कभी-भी ज़्यादा Paise बनाने और अपने को बड़ा दिखाने के चक्कर में गलत रास्ते नहीं अपनाए, जिसके Karan आज करीब 20 साल बाद भी उसका user-network बाकी companies की तुलना में Kafi साफ सुथरा Or सुरक्षित है।
    गूगल अपनी Service के गलत Use और User/Client की privacy की सुरक्षा के लिए शुरू से ही Bahut सख्त रहा है। इसका अंदाज़ा आप उसकी ही एक Popular service Youtube की सख्त policies पढ़कर लगा सकते हैं।
    हममे से ज़्यादातर लोग कई बार अपने venture या business को जल्दी success कराने के चक्कर में कुछ गलत रास्तों का सहारा ले लेते हैं, जिससे हमारे user network में कई सारी खराब चीज़ें घुस जाती हैं, जो किसी भी Company/Organisation के लिहाज से long term के लिए सही नहीं है।
    हमें हमेशा अपने Rules & Regulation को strict मगर soft बनाना चाहिए और गलत रास्तों को अपनाने से जितना हो सके, बचना चाहिए!


    7)• फालतू के प्रचार से दूरी:


    बिज़नेस की दुनिया की एक प्रसिद्ध कहावत है–
    घटिया products का सही प्रचार उन्हें जल्दी असफल बनाता है और सही products का सही प्रचार उन्हें जल्दी सफल बनाता है।
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi

    लेकिन इस Kahawat से उलट गूगल अपनी Service Ka प्रचार ही Nahi करता है या कहें उसे Aisa Karne की जरूरत ही Nahi पड़ती।
    लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि गूगल को अपने ads देने की Bahut ज़्यादा जरूरत क्यों नहीं पड़ती?
    जवाब सीधा है– गूगल Company/Organisation User/Client की उनके काम को बखूबी पूरा Karne में इतनी अच्छी तरह से मदद करती है, कि उसे use Karne वाले लोग ही दूसरों को उसे Use Karne की सलाह देने Lagte हैं। इस Karan ही इसे Apna अतिरिक्त प्रचार Karne की zarurat नहीं पड़ती।
    गूगल की तरह ही हम भी अपनी Serviceेज की फालतू की advertising Karne की जगह उतना पैसा और energy अपनी services को बेहतर बनाने में कर सकते हैं और खुद को एक Brand के रूप में स्थापित में स्थापित Karne का प्रयास कर सकते हैं।


    8)• समाज और प्रकृति का ख्याल रखना:


    Aapko यह जानकर हैरानी हो सकती है, कि गूगल, Technology से पर्यावरण व समाज पर होने वाले नुकसान को कम Karne की काफी कोशिशें करता रहता है।
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi

    गौरतलब है कि अभी कुछ समय पहले ही गूगल ने कैलिफोर्निया, अमेरिका स्थित अपने Headquarter के Lawn में उगी घास को हटाने के लिए मशीनों का सहारा नहीं लिया बल्कि Iske बजाय उसने कुछ Hazar बकरियों को किराए पर Liya और उन्हें वहां लाकर छोड़ Diya । और देखते ही देखते कुछ वक़्त Bad गार्डन की पूरी घास भी Saaf हो गयी Or बेचारी बकरियों Ka पेट Bhi भर गया!
    गूगल इस Baat का Bahut ध्यान रखती है कि उसकी services से उसके Useकर्ताओं, समाज और पर्यावरण पर Bahut अधिक बुरा असर ना पड़े।
    इसके अलावा, आप MicroSoft के संस्थापक बिल गेट्स के NGO, Bill & Melinda Gates Foundation को ही देख लीजिए, वह भी समाज और पर्यावरण के हित में काम कर रहें हैं।
    As a Company/Organisation, हम भी समाज और पर्यावरण के क्षेत्र में एक छोटी सी पहल करके अपने Users/Customer के साथ एक मजबूत रिश्ता बना सकते हैं।


    9)• खुद के Sath ही दूसरों Ko भी विकास करना:


    गूगल सालों से लगातार जिस रणनीति (stretegy) को अपनाकर Aage बढ़ रहा है, वह है उसकी–" सबका साथ, सबका विकास" वाली रणनीति. ☺️
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi

    अपनी इस strategy के तहत गूगल सिर्फ स्वयं को ही बड़ा बनाने पर focus नहीं करता है बल्कि करोड़ों आम User/Client को भी अपने साथ लेकर Aage बढ़ रहा है।
    दुनिया का सबसे बड़ा Video Sharing प्लेटफार्म YOUTUBE, जो कि गूगल की ही एक Service है, इसका एक अच्छा उदाहरण है।
    Youtube पर आप और हम जैसे ही लाखों लोग आते हैं और अपनी videos पोस्ट करते हैं। गूगल उनमें से eligible videos पे ads लगाती है और उन ads के advertisers से मिले Paise का कुछ % हिस्सा खुद रख लेती है और बाकी बचा हिस्सा video creator को दे देती है। इस तरह वीडियो बनाने वाला भी खुश हो जाता है और साथ-ही-साथ गूगल का revenue भी बढ़ जाता है।
    इतना अच्छा और पॉपुलर Video Platform होने के बावजूद भी Youtube आज भी पूरी तरह FREE है। यह गूगल की "सबका साथ, सबका विकास" वाली रणनीति का ही नतीजा है।
    क्या आप भी इस strategy को अपने Ventures में अपना सकते हैं? जरा सोचिए...


    10)• अपनी Baat रखने का पूरा मौका देना:


    बेशक गूगल ने अपनी policies काफी सख्त रखी हैं लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल भी नहीं है कि वह User/Client को अपनी Baat रखने का मौका नहीं देता है।
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baatें / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi
    गूगल Company/Organisation से सीखी जा सकने वाली 10 Baat / 10 Things Can Be Learned From गूगल Company/Organisation in Hindi

    बल्कि इसके विपरीत, वह तो User/Client से छोटी-छोटी Baat पर अपना feedback मांगता रहता है। यहाँ तक कि अगर Aapko अपने Sawal/Question का जवाब गूगल में ढूंढने पे भी नहीं मिलता तो वह Aapko अपना Sawal/Question Search Page के सबसे आखिर में दिए हुए box में डालने को कहता है ताकि वह इसकी जानकारी Bloggers को दे पाए और ब्लॉगर्स आपके लिए उस Sawal/Question का जवाब ढूंढ पाए।
    इसके अलावा Youtube Channel पे भी Copyright Strike मिलने पर Aapko  अपील (Appeal) ऑप्शन के through अपनी Baat रखने का पूरा-पूरा मौका मिल जाता है, क्योंकि गूगल नहीं चाहता कि Uski वजह से किसी का Bhi बेवजह नुकसान हो।
    इसके साथ ही गूगल की Service से सम्बंधित Sawal/Question हम गूगल Forums में पूछ सकते हैं, जहां पर हमें अपने Sawal/Questionों के कई Satisfactory Answers मिल जाते है।


    खुद से यह Sawal/Question कीजिये कि क्या आप भी अपनी Company/Organisation का Support System गूगल की तरह मजेदार और मजबूत बना सकते हैं ताकि हमारी Services Use Karne वाले Users/Customer को परेशान होकर यहां-वहाँ Na भटकना पड़े Or उनका Hum पर विश्वास Badha सके।