What Is ROM (Read-only memory) In Hindi? RAM (Random-access memory) Kya Hai? ROM (Read-only memory) Kya Hai?
    इस पोस्ट(Post) में आपको इसके बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी .जब भी आप कोई मोबाइल (Mobile) खरीदते हैं या कोई लैपटॉप खरीदते हैं। तो आप ने सबसे पहले उसने यह जरूर पूछते हैं कि इसमें कितने GB RAM (Random-access memory) हैं। आजकल हमें आपको रेम (Ram) या रोम के बारे में बहुत कुछ सुन ने को मिल रहा होगा और ज्यादा टार आपको फ़ोन की Specifications में RAM (Random-access memory) और ROM (Read-only memory) नाम ज्यादा दिखाई देता होगा जैसे कि इस फ़ोन में 2 GB RAM (Random-access memory) है और 8GB ROM (Read-only memory) है और 1 GB ROM (Read-only memory) है  तो आज हम उसी RAM (Random-access memory) और ROM (Read-only memory) के बारे में बताएँगे।
    RAM (Random-access memory) और ROM (Read-only memory) क्या है इनकी जरूरत क्यों होती है [Guide In Hindi]
    RAM (Random-access memory) और ROM (Read-only memory) क्या है इनकी जरूरत क्यों होती है [Guide In Hindi]

    WHAT IS RAM (Random-access memory)
    RAM (Random-access memory) का पूरा नाम Random Access Memory or installation memory kahte है। यह किसी भी कंप्यूटर (Computer) या डिवाइस (Device) के लिए सबसे जरूरी हिस्सा होता है। RAM (Random-access memory) का इस्तेमाल Data Store करने के लिए किया जाता है लेकिन यह तभी तक Store रहता है जब तक पावर ऑन रखते हैं। जब पावर ऑफ हो जाती है तो इसमें स्टोर डाटा (Store-Data) खत्म हो जाता है।


    RANDOM ACCESS MEMORY
    मान लीजिये आपका फोन स्विच ऑफ है। इस समय आपका RAM (Random-access memory) बिल्कुल खाली है और आपकी RAM (Random-access memory) इस्तेमाल नहीं हो रही है। जितने भी आपकी एप्लीकेशन है सारी आपके Phone स्टोरेज में है या फिर आपके मेमोरी कार्ड में है। जैसे ही आप अपना फोन शुरू करते हैं आपका ऑपरेटिंग सिस्टम आपके फोन में लोड हो जाएगा। यह सिस्टम सबसे पहले आपकी RAM (Random-access memory) का इस्तेमाल करेगा और इसके साथ साथ जितने भी जरूरी एप्लीकेशन है उनको RAM (Random-access memory) के सहारे शुरु कर देगा। यही कारण है कि सभी Application बंद करने के बाद भी आपके फोन की RAM (Random-access memory) इस्तेमाल होती रहती है। इसके बाद आप जब अपने मोबाइल (Mobile) पर कोई नई एप्लीकेशन खोलते हैं तो वह RAM (Random-access memory) में चली जाती है और कुछ एक एप्लीकेशन खोलने के बाद यह फूल हो जाती है। RAM (Random-access memory) फुल्ल होने के बाद अगर आप कोई एप्लीकेशन ओपन करते हैं तो वह उसके जगह बनाने के लिए पुरानी एप को बंद कर देता है। बंद करने का यह मतलब है कि वह अपने RAM (Random-access memory) से उस Application को निकाल कर उसको इंटरनल स्टोरेज में भेज देता है। प्रोसेस बार बार करने की वजह से हमारे फोन की स्पीड कम हो जाती है। इसीलिए जितने बड़ी RAM (Random-access memory) होती है उतनी ही मोबाइल (Mobile) स्पीड ज्यादा रहती है।

    WHAT IS ROM (Read-only memory)
    ROM (Read-only memory) भी RAM (Random-access memory) की तरह बहुत ही जरूरी हिस्सा है। ROM (Read-only memory) कंप्यूटर (Computer) सिस्टम का प्राइमरी स्टोरेज डिवाइस (Device) है। यह CHIP के आकार की होती है जो भी कंप्यूटर (Computer) के मदरबोर्ड से जुड़ी हुई होती है। जैसा कि नाम से ही पता लगता है यह कंप्यूटर (Computer) के डाटा को सेट करने के लिए काम में ली जाती है। इस में आप कुछ लिख नहीं सकते हैं या कोई डाटा स्टोर नहीं कर सकते हैं। कम्प्युटर के शुरू होने के बाद डाटा को Regenerate करती है। यह RAM (Random-access memory) मेमोरी की तरह अपना डाटा कंप्यूटर (Computer) बंद होने के बाद नहीं खत्म करती है। है और इसमें पूरा Data इंफॉर्मेशन स्टोर रहता है।
    RAM (Random-access memory) और ROM (Read-only memory) दोनों की हमारी डिवाइस (Device) की मेमोरी होता है ,अब वो डिवाइस (Device) आपका कंप्यूटर (Computer) हो सकता है मोबाइल (Mobile) या लैपटॉप कुछ भी हो सकता है . But ये दोनों मेमोरी (Memory) अलग अलग तरह से काम(Work/Process) करती है .इन दोनों को और अच्छे  समझने (Understanding)के लिए मैं आपकों दोनों के बारे में अलग अलग बताता हु.


    READ ONLY MEMORY
    ROM (Read-only memory) क्या है क्या काम करती है
    ROM (Read-only memory) की Full Form “Read Only Memory” है
    ROM (Read-only memory) Esi Memory जंहा हम अपना सारा डाटा सेव करते है जैसे ऑडियो , विडियो , फोटो , Document और जो सॉफ्टवेर (Software) या अप्प्स इनस्टॉल करते है वो भी ROM (Read-only  Memory) में ही Save होती है . ROM (Read-only memory) ko permanent memory v Kahte he ROM (Read-only memory) की Speed RAM (Random-access memory) से बहुत कम होती है. ROM (Read-only memory) और RAM (Random-access memory) के Price में भी बहुत ज्यादा अंतर होता है , इसका कारण है की रेम (Ram) की स्पीड ज्यादा होती है और बनाने में खर्च ज्यादा आता है . RAM (Random-access memory) क्या है क्या काम करती है RAM (Random-access memory) की Full Form “Random Access Memory” है RAM (Random-access memory) में डाटा सिर्फ तब तक Store  है जब तक इसमें पावर सप्लाई रहती है , जैसे ही Power Supply बंद हुई आपका डेटा डिलीट हो जायेगा . RAM (Random-access memory) एक Temporary Memory है जो हमारे कंप्यूटर (Computer) या मोबाइल (Mobile) एप्पस और सॉफ्टवेर (Software) को चलाने के काम आती है . जब हम कोई सॉफ्टवेर (Software) या अप्प्स स्टार्ट करते है तो वो हमारी RAM (Random-access memory) पर काम करता है लेकिन जब तक वो स्टार्ट नहीं करते तब तक वो ROM (Read-only memory) में Save रहता है .

    RAM (Random-access memory) की जरूरत क्यों होती है
    सॉफ्टवेर (Software) जब स्टार्ट होते है और काम करते है तब तक RAM (Random-access memory) की जरूरत होती है . क्योंकि हमारा कंप्यूटर (Computer) सॉफ्टवेयर से फास्टली (Fastly) काम (Process) करवाना चाहता है . और रोम की स्पीड बहुत कम होती है और RAM (Random-access memory) की स्पीड बहुत ज्यादा इसलिए हमारा कंप्यूटर (Computer) सॉफ्टवेयर या एप्प्स को RAM (Random-access memory) पर स्टार्ट करता है ताकि वो सॉफ्टवेर (Software) जल्दी काम (Task/Work Process)करे. और जब तक हमारा सॉफ्टवेयर काम करता है तब तक ही RAM (Random-access memory) का इस्तेमाल होता है , जैसे ही आपने प्रोग्राम बंद किया आपकी RAM (Random-access memory) से वो डिलेट हो जायेगा लेकिन ROM (Read-only memory) मे Save रहेगा.

    तो एस आर्टिक्ल(Article) में हमने आपको बताया की What Is Mobile ROM (Read-only memory) In Hindi Mobile ROM (Read-only memory) Kya Hai Types Of ROM (Read-only memory) In Hindi और RAM (Random-access memory) और ROM (Read-only memory) क्या होती है और इनका क्या काम होता है। अगर इसके बारे में कोई सवाल होतो निचे कमेंट कर और जानकारी को शेयर करना न भूले।

    Ek Tarah se Kahe to RAM (Random-access memory) installation memory he jo hm pc ya mobile me jo software install Karte he Usi pe install hota he or ROM (Read-only memory) me data store hota he.
    so ye jankari aap logo ko Kaisi Lagi comment me Zarur Bataye Isse hame motivate Milti he or aapke kuch Suggestion ho to please comment Kijiye.