दोस्तों आज हम आपको बताएगे की mobile ko रुट (Root) kaise karen । अगर आप भी उन लोगों मे से है जो इंटरनेट पर Phone रुट (Root) Karne ka tarike के बारें मे सर्च कर रहे है तो आप बिलकुल सही पेज  पर आए है ।आज हम आपको बहुत ही  सरल तरीको से अपने mobile phone ko रुट (Root) kaise Karen के बारे मे बताएगे । सामान्तःएक Mobile को रुट (Root) करने के दो तरीके है । पहला तरीका है कम्प्युटर के साथ(रुट (Root) android phone with pc /computer) , जबकि दूसरा तरीका है बिना कम्प्युटर के (रुट (Root) android phone without pc/computer)

    Root android phone without pc/computer


    आज मै आपको बिना कम्प्युटर के रुट (Root) कैसे करते है (how to रुट (Root) android phone without pc computer) इसके बारे मे बताउगा । तो आइये  चले

    PHONE रुट (Root) KYA HAI
    सबसे पहले हम यह जान लेते है की फोन या mobile रुट (Root) का क्या मतलब होता है ।जब हम एक नया  एंड्रॉइड फोन खरीद कर लाते है तो Mobile कंपनी हमे Mobile के परफॉर्मेंस या सेटिंग को बदलने का फुल परमिशन नहीं  देती है। जैसे की आपने देखा होगा की नए Mobile के साथ काफी सारे इन बिल्ट ऐप आता है ।जिसमे से कुछ ऐप की हमे जरूरत नहीं होती है ।फिर हम उनको चाहकर भी uninstall नहीं कर पातें है , क्योकि हमें सिस्टम एप को unistall करने की परमिशन नहीं होती है। रुट (Root) के द्वारा हम Mobile के स्पेशल परमिशन को unblock  कर देते है।   जिससे जैसे ही  हम अपने  फ़ोन (Phone) रुट (Root) कर लेते है, वैसे ही  हमें  अपने Mobile की Full Access मिल जाती है।   फिर हम अपने Android Phone मे मनचाहे बदलाव कर सकते है, जैसे की कस्टम ROMS इस्तेमाल कर सकते है या Pre-installed Apps को अपने फोन से हटा सकते है और भी बहुत कुछ कर सकते है  ,यहाँ तक की हम Custom OS भी इस्तेमाल कर सकते है।

    MOBILE KO रुट (Root) KARNE KE FAYDE AUR NUKSAN



     DISADVANTAGES OF ROOTING
    अपने एंड्रॉइड Mobile को रुट (Root) करने से कई  नुकसान भी मिलते हैं जिनमें प्रनुख निम्न  हैं- 
    अपने Mobile को रुट (Root) करने से पहले मै चाहता हूँ की आप Mobile रुट (Root) के फायदे और नुकसान के बारे में अच्छी तरह से जान  लें।  इनके फायदे और नुकसान देखने के बाद कम से कम आप दो बार जरूर सोच लें  , की आपको अपने Mobile को रुट (Root) करना है या नहीं।



    1. WARRANTY PROBLEM –.
    फ़ोन (Phone) बनाने वाली कई कंपनी हमें Mobile को रुट (Root) करने से मना करती है।  अगर हम कंपनियों के मना  करने के बाद भी अपने Mobile को रुट (Root) करते है। तो सबसे पहले हमारे फोन की वारंटी चली जाती है।  अब अगर हमारा फ़ोन (Phone) ख़राब हो गया ,तो वह वारंटी के तहत रिपेयर नहीं हो सकता  और न ही हमें Mobile कंपनी कोई Customer Support देगी।


    2.POOR PERFORMANCE (खराब प्रदर्शन)-
    हालांकि हम अपने  Mobile  को रुट (Root) Mobile के परफॉरमेंस को बढ़ाने के लिए करते है। लेकिन कुछ यूजर ने शिकायत की है , की उनका Mobile का परफॉरमेंस रुट (Root) करने के बाद और भी कम(low)हो गया है।

    3.HIGHER VULNERABILITY TO VIRUSES –
    जब आप अपने फोन को रुट (Root) करते हैं, तो आप कस्टम प्रोग्राम का उपयोग करके डिवाइस के रोम को भी फ्लैश कर सकते हैं। सॉफ़्टवेयर के कोड में ऐसे परिवर्तन करने से आपके Mobile में वायरस की संभावना काफी बढ़ जाती है।रूट करने के बाद आपका Mobile आपके पीसी की तरह वायरस, मैलवेयर, एडवेयर और सभी प्रकार के क्रैवेयर का आसन  लक्ष्य  बन जाता है। हमें Mobile को रुट (Root) करने से पहले हमेशा यह याद रखना चाहिए ,कि  रुट (Root) करके हम  अपने Mobile के स्टॉक ऑपरेटिंग सिस्टम में बदलाव कर रहे है।

    4.ONLY CUSTOM OS INSTALL–
    Mobile को रुट (Root) करने के बाद हमें  Mobile कंपनी की तरफ से कोई भी सॉफ्टवेर अपडेट नहीं मिलती है। अतः  अगर हमें अपना फोन अपडेट करना है ,तो अपने फोन मे Custom OS ही डालना पड़ेगा।  अतः  अगर आप अपने Mobile को रुट (Root) करते है तो मैन्युअली अपडेट इनस्टॉल करने के लिए तैयार रहें।

    5.SECURITY ISSUES–
    अगर आप अपना Mobile रुट (Root) करते है ,तो यह अपना सिक्यूरिटी खो देता है। अतः बढ़िया रहेगा की आप अपने rooted Mobile में बैंकिंग का कोई एप नहीं चलाये।  क्योकि एक rooted Mobile हैकर के लिए बिलकुल हीं आसन टारगेट होता है। हालाँकि कई बैंकिंग एप्स rooted Mobile में चलते ही नहीं है।


    ADVANTAGES OF ROOTING AN ANDROID PHONE
    अपने एंड्रॉइड Mobile को रुट (Root) करने से कई  फायदे भी  मिलते हैं जिनमें प्रनुख निम्न  हैं-

    1.RUNNING SPECIAL APPS ( विशेष ऐप्स चलाना )
    कई ऐसे Mobile एप्स है जिन्हें हम बिना Mobile रुट (Root) किये नहीं चला सकते। अतः जब एक बार आप  अपने Mobile को रुट (Root) कर लेते है ,तो फिर आसानी (Easily) से ऐसे एप्स को अपने Mobile पर चला सकते है। खासकर  थर्ड पार्टी एप्लीकेशन जिन्हें रुट (Root) एक्सेस की जरुरत पड़ती है  , उन्हें हम  आसानी (Easily) से अपने Mobile में  चला सकते है|

    2.FREE UP MEMORY ( मेमोरी फ्री )
    जब आप अपने Mobile  पर ऐप इंस्टॉल करते हैं, तो यह आपके Mobile  की मेमोरी में स्टोर  होता है। लेकिन जब आप अपने Mobile को रुट (Root) कर लेते है ,तो आसानी (Easily) से अपने एप्स को Mobile के मेमोरी से  एसडी कार्ड में स्थानांतरित कर सकते है।  जिससे की हमारे Mobile का  सिस्टम मेमोरी  खाली रहता है और Mobile का परफॉरमेंस बढ़िया होता है।

    3.CUSTOM ROM’S ( कस्टम रोम)
    ‘रूट’ फोन की सबसे अच्छी सुविधा Custom ROM है। Mobile को रुट (Root) करने के बाद अगर  हम अपने Mobile में Custom ROM  डालना चाहे ,तो बरी ही आसानी (Easily) से  डाल सकते है, |आज सैकड़ों कस्टम रोम उपलब्ध  हैं जिससे हम अपने Mobile के  पूरे स्वरूप  और परफॉरमेंस को पूरी तरह से बदल सकते है

    4.BOOST YOUR PHONE (स्पीड तेज़ करे )
    जब हम एक ने Mobile खरीद कर लेट है तो उसमे कई सरे  Pre-Loded Apps  होते है . जिनमे कई हो हमारे बिलकुल भी काम (Work) के नहीं होते है . इन्हें हम चाहकर भी uninstall नहीं कर पाते है ,लेकिन जब हम अपना Mobile रुट (Root) कर लेते है तो बड़ी आसानी (Easily) से इन Pre-Installed Apps को uninstall करके अपने Mobile से हटा सकते है

    5.BATTERY LIFE & PROCESSOR SPEED
    अगर बैटरी लाइफ की बात  करें तो Mobile रुट (Root) होने के बाद बैटरी  की लाइफ  काफी बढ़ जाती है