6 कदम (Steps) से आपको जीवन (Life) में मिलेगी Success और आपके जीवन जीने का नजरिया बदल सकते है

    6 कदम (Steps) से आपको जीवन (Life) में मिलेगी Success
    यदि ज़िंदगी (Life) में आगे बढ़ना Hai.! तो आपको अपना हर एक कदम (Steps) सोच समझ कर आगे बढ़ाना होगा! अगर आप सोच समझ कर अपना कदम (Steps) बढ़ाएंगे तो आपको Success जल्दी ही मिलेगी!

    अक्सर हम कुछ लोगो को देखते होंगे जो बहुत ही जल्दी Success का स्वाद चखना चाहते Hai.! लेकिन उनके वयक्तिगत भोलापन और ब्यवहार की सहजता उनको ऐसा करने से रोकती Hai.! ऐसे लोगो के बारे में कहा जाता Hai.! की ये कही Kisi का बुरा Nahi चाहते Hai.! लेकिन ये अपने बराबर वालो Se अक्सर पीछे Rah जाते Hai.! ऐसे लोग भावुक (Emotional) और संवेदनशील होते Hai.! और ये दीमक से ज्यादा दिल से सोचते Hai.! और ऐसे लोग अक्सर असफल हो जाते Hai.!
    जीवन (Life) में सफल (Successful) होने के लिए आपको हर एक चीज़ सोच समझकर करना चाहिए! कभी भी किसी चीज़ को भावुक (Emotional) होकर नहीं करना चाहिए! यदि आप किसी को किसी चीज़ में Success पते हुए देखते Hai.! और सोचते है की आप भी उसमे सफल (Successful) हो जाएंगे तो आप गलत सोचते Hai.! अगर Aapko सफल (Successful) होना ही है To ऐसी चीज़ Karo जिसमे आपको रूचि हो! और जिसको आप अच्छी तरह से कर सकते Hai.!
    अपने पैशन को अपना प्रोफेशनल बनाए! 6 कदम (Steps) की Hai.! ये दुनिया यदि आप ये 6 कदम (Steps) का पालन बढ़िया तरीके से करते है तो आपको बहुत ही जल्दी जीवन (Life) में Success मिलेगी! तो चलो आओ देखते Hai.! की वह 6 कदम (Steps) कौन कौन से Hai.! जिससे हमको Success मिलेगी!


    पहला कदम (First Steps): स्वयं पर भरोसा Trust/Faith

    खुद पर विस्वास ऐसी मनोभावना Hai.! जो आपके हर एक Work में आपका पहला साथी (Friend) होता Hai.! जब भी आप कोई Work Statrt करते Hai.! तो उसमे जी तोड़ परिश्रम/मेहनत करना से पहले आपको अपना आप पर Trust/Faith होना चाहिए तभी वह Work आपका सफल (Successful) होगा! यदि आपके अंदर ऐसा विस्वास Hai.! की आप जो Work Statrt करने जा रहे Hai.! उसको उसके अंजाम तक पंहुचा सकते Hai.! तो आपको उस Work में सफल (Successful) होने से कोई नहीं रोक सकता Hai.!
    यदि आपको अपना आप पर Trust/Faith नहीं होगा तो आप ठीक उसी प्रकार हो जाएंगे जो अपने योग्ता पर Work और दूसरे की परामर्श पर ज्यादा Trust/Faith करता Hai.! आपको दूसरे के परामर्श से ज्यादा अपने आप पर Trust/Faith होना चाहिए!


    दूसरा कदम (Second Steps): योग्यता (Eligibility)

    किसी भी चीज़ में सफल (Successful) होने के लिए आपकी योग्यता (Eligibility) आपने सबसे बड़ा हथियार Hai.! यदि हम बात करे एक सफल (Successful) या फिर असफल लोग की तो उन दोनों में केवल योग्यता (Eligibility) का ही फर्क होता Hai.!
    बहुत Se लोग ऐसे है Jo परिश्रम/मेहनत To बहुत करते Hai.! लेकिन योग्यता (Eligibility) के सवाल को हमेशा टाल देते Hai.! यदि आप अपनी योग्यता (Eligibility) के सवाल को टाल जाते है तो आपकी Success हमेशा अधूरा रास्ता तय करती Hai.!

    यदि आपको सीधे रह कर सफल (Successful) बनना Hai.! To अपनी योग्यता (Eligibility) अपने बराबर वालो Se बढ़िया बनाने Ki हमेशा कोशिश करे! आपकी योग्यता (Eligibility) आपकी Success में बहुत बड़ा रोले निभाती Hai.!


    तीसरा कदम (Third Steps): योजना (Plan)

    यदि आपको खुद पर Trust/Faith है और आपके पास योग्यता (Eligibility) भी Hai.! लेकिन आपके Work करने का तरीका ब्यवस्थित नहीं Hai.! तो Na ही आपकी ज़िंदगी (Life) ब्यवस्थित होगी Or ना ही Aapki आमदनी! जबतक Aap किसी भी Work को योजना (Plan) बन कर नहीं करेंगे तब तक आपको उस Work में Success मिलने का चांस बहुत ही कम होगा!
    Bahut से सीधे लोगो Ki यही परेशानी होती Hai.! की उनके पास किसी भी Work के लिए योजना (Plan) बनने का हुनर नहीं जानते Hai.! जिसके कारण उनको बार बार असफलता मिलती Hai.! Jab हम अपने आश पास Ke उन लोगो Ko देखते Hai.!

    जो योजना (Plan) बन कर अपने Work में सफल (Successful) होते Hai.! तो उनकी Success देख कर हम लोग यही कहते Hai.! “भले लोगो का जबाना ही नहीं Hai.!” लेकिन ऐसी बात नहीं Hai.! यदि आप अपने आपको सफल (Successful) बनने के लिए बढ़िया योजना (Plan) और बैकअप तैयार रखे तो आपको Success जरूर मिलेगी! इसलिए किसी भी Work को Statrt करने से पहले उस Work की एक बढ़िया योजना (Plan) होना जरुरी Hai.! योजना (Plan) के साथ किया गया Work जरूर सफल (Successful) होता Hai.!


    चौथा कदम (Fourth Steps): बदलाव (Change)

    सफल (Successful) लोग हमेशा बदलाव (Change) को सहजता से लेते Hai.! यदि आप बदलाव (Change) को सहजता से ले तो आपको सरल और सहज दोनों विशिस्ट गूढ़ बन जाता है यदि उसके साथ कोई सकरातमक बदलाव (Change) जुड़ जाता Hai.! यदि आप ज़िंदगी (Life) के अनुसार बदलाव (Change) नहीं करेंगे तो सफल (Successful) होने के बाद भी असफल हो जाएंगे!
    समय के साथ साथ आपको अपने Work और पर्सनल लाइफ में बदलाव (Change) लाना जरुरी Hai.! यदि Aap अपने अंदर बदलाव (Change) नहीं लाएंगे To आपके आस पास के लोग Badal जाएंगे जिसके कारण आप उनसे पीछे रह जाएंगे! इसलिए जीवन (Life) में आपको सफल (Successful) होना है तो समय के साथ साथ आपको अपने अंदर बदलाव (Change) लाना जरुरी Hai.!


    पाँचवा कदम (Steps): चुनौती (Challenge)

    आपके द्वारा किया गया हर एक Work और आपके मिला हर एक मौका एक चुनौती (Challenge) की तरह होता Hai.! ज़िंदगी (Life) में जो लोग इस बात को समझ कर अपना Work कर रहे Hai.! उनके सफल (Successful) होने का मौका दूसरे के मुकाबले कई गुना बढ़ जाता Hai.!
    चुनौती (Challenge) मन और शरीर को मंजिल की दिशा में साधकर उसको वहाँ पर अपना ध्यान केंद्रित करने में मदद करती Hai.! जो लोग चुनौती (Challenge) का सामना करने से घबराते Hai.! Success भी उनसे बहुत कोसो दूर रहती Hai.! इसलिए ज़िंदगी (Life) में सफल (Successful) होने के लिए कभी भी किसी भी चुनौती (Challenge) से घबराना नहीं चहिए! बल्कि उसको डटकर सामना करना चाहिए!
    हर एक Work में कोई न कोई चुनौती (Challenge) जरूर आती Hai.! हमको उससे भागने के बजाए उस चुनौती (Challenge) से निपटने का रास्ता ढूढ़ना चाहिए!


    छठा कदम (Steps): भय निवारण

    जब भी Aap किसी नए Work को करने Ke लिए जाये तो उससे Thoda भी डरे ना क्योकि Agar आप उस से डर गए तो समझ लो की आप मर गए! बहुत से लोग ऐसे है जो भय के कारण अपने Work को पूरा ही नहीं करते Hai.! ऐसा लोगो के साथ आत्मविस्वास की कमी के कारण होता Hai.! किसी भी Work को करने से पहले ही ये ना सोचे की आप इस Work में हार जाएंगे!
    जो भी Work करे उस Work को करने से पहले उस Work के बारे में अपने दिमाग में ये भावना रखे की उस Work को हर हालत में करना Hai.! Pahle ही ये ना सोचे Ki Aap हार जाएंगे! Bas अपना बढ़िया प्रयास करे, खुद Par विस्वास करे, Or बिना डरे उस Work Start करे! मुझे पूरी उम्मीद Hai.! की आपको Success जरूर मिलेगी!


    आखिरी शब्द

    जिंन्दगी में छोटे से लेकर बढ़ा हर कोई सफल (Successful) होना चाहता Hai.! लेकिन लाइफ में Success उसको ही मिलती Hai.! जो अपनी कमजोरी को अपनी ताकत बनता Hai.! और किसी भी Work में अपना हार नहीं मनाता Hai.! इसलिए Kabhi भी किसी Bhi चीज़ में आपको Haar नहीं मानना चाहिए! क्योकि आप हर एक चीज़ कर सकते Hai.! बस आपके अंदर उसको करने की चाहत हो! हर एक Work योजना (Plan) बन कर करे! और किसी भी प्रकार की चुनौती (Challenge) के लिए हमेशा तैयार रहे! ऐसा करने से आपको Success जरूर मिलेगी!

    Jab कुछ समझ न आये तो Kya करना चाहिए अब Aap जान चुके है, Or कैसे अपने आपको मोटीवेट करके Success होना है वो राज Ab आपके सामने है.