क्या अंतर है कस्टम रोम (Custom Rom)और स्टॉक रोम (Stock Rom) दोनों में 

    अगर आप एंड्राइड Mobile यूजर है तो आपने एंड्राइड Mobile के एंड्राइड वर्शन (Android Version) को अपग्रेड करना के बारे में जरुर सोचा होगा तो ऐसे में आपने Stock Rom (स्टॉक रोम) और कस्टम रोम (Custom Rom) के बारे में जरुर सुना होगा लेकिन क्या आपको बता ही की एंड्राइड में Stock Rom और Custom Rom क्या होता है इन दोनों के बीच क्या क्या अंतर है क्या हमें अपने फ़ोन Custom Rom से अपग्रेड (Upgrade) करना चाहिए ( what is स्टॉक रोम and कस्टम रोम ? Difference Between स्टॉक रोम and कस्टम रोम in hindi) ? डिफरेंस बिटवीन Stock Rom एंड Custom Rom.

    क्या अंतर है कस्टम रोम (Custom Rom)और स्टॉक रोम (Stock Rom) दोनों में
    क्या अंतर है कस्टम रोम (Custom Rom)और स्टॉक रोम (Stock Rom) दोनों में

    अपने एंड्राइड Mobile के एंड्राइड वर्शन को अपग्रेड करने के लिए आप गूगल में जाके सर्च जरुर किया होगा की (How To Upgrade kitkat Version to Lolipop Marshmallow nougat and android oreo) या फिर आपका एंड्राइड Mobile वर्शन लोलीपोप है तो आपने मार्श्मल्लो में अपग्रेड करना का सोचा होगा या अगर आपका फ़ोन में मर्स्मेल्लो एंड्राइड वर्शन है तो आपने नोगट में अपग्रेड करना का सोचा होगा लेकिन आपको फ़ोन अपग्रेड करने लिए इन्टरनेट में जो तरीका बताया जाता है वो ज्यादातर कस्टम रोम (Custom Rom) से बताया जाता है न की Stock Rom (स्टॉक रोम) तो आइये जान लेते है आखिर क्या है Stock Rom और Custom Rom होता क्या है इन दोनों में क्या अंतर हैStock Rom Custom Rom


    Stock Rom क्या है ? What is स्टॉक रोम in Hindi

    Stock Rom एक ओरिजिनल Rom होता है जो आपके Mobile में पहले से डाला होता है जैसे की किटकेट एंड्राइड वर्शन , लोलीपोप , मार्श्मल्लो , ओरियो इत्यादि जो भी आपके Mobile ने डाला हुआ है उसे हम Stock Rom (स्टॉक रोम) कहते है ये एक तरह का ओरिजिनल Rom होता है जब आप नया फ़ोन लेते है इसके साथ जो भी एंड्राइड वर्जन आपने Mobile में मिलता है वो Stock Rom कहलाता है ये Rom गूगल कंपनी दुवारा बनाया जाता है और बहोत कम चांसेस होते है की इसमें आपको किसी भी तरह का बग(Bug) या Error मिले अगर इसमें किसी तरह का बग या Error मिले तो गूगल उस Error को फिक्स कर के आपको उप्दतेस भेज देता है.


    कस्टम रोम क्या है ? What is कस्टम रोम in Hindi

    Custom Rom एक थर्ड पार्टी Rom जो किसी भी डेवलपर दुवारा बनाया जाता है जिसे आप अपने Mobile में खुद Install करते है और इसे Install करने के लिए आपको अपने Mobile को रूट करना होता है यानि इस Rom में आपको जो कुछ भी फीचर मिलेगा वो सभी Customाइज किया जाता है यानी की डेवलपर जो ये Custom Rom बनाते है वो अपने हिसाब से इस ऑपरेटिंग सिस्टम में बदलाव करते है और इन्टरनेट में डाउनलोड के लिए अपलोड करते है अब ऐसे में इस कस्टम रोम (Custom Rom) में किसी भी तरह का Error या बग हो सकता है और ज्यदातर Custom Rom में आपको Error या कोई फंक्शन की प्रॉब्लम का प्रॉब्लम होता है तो इसलिए Custom Rom में आपको बहोत Error(Error) और बग (Bug) मिलते है और एक बार इस Rom को Install करने के बाद आप इस Error या बग को ठीक नहीं कर सकते तो इसके लिए आपको दूसरा Rom Install करना होगा जबकि ये सब आपको Stock Rom के अन्दर नहीं मिलेंगे Stock Rom एकदम ओरिजिनल Rom होता है जो की गूगल कंपनी के डेवलपर डेवलप करते है जो की Error फ्री होता है यानि इसमें किसी तरह बग या Error नहीं मिलेगा तो आइये अब हम इन दोनों के बीच में डिफरेंस जान लेते है .

    स्टॉक रोम vs कस्टम रोम (Custom Rom Vs Stock Rom)

    Stock Rom और Custom Rom में अंतर? Difference between स्टॉक रोम and कस्टम रोम in hindi

    Stock Rom गूगल कम्पनी के डेवलपर दुवारा बनाया जाता है जिसे हम ओरिजिनल Rom भी कह सकते है जबकि Custom Rom को कोई भी डेवलपर बनता है जिसे भी कोडिंग की जानकारी हो .Mobile में Stock Rom Install होने से आपके Mobile की वारंटी रहती है जबकि अगर आप अपने Mobile में Custom Rom Install करते है तो आपके Mobile की वारंटी ख़तम हो जाएगी. Stock Rom में आपको बहुत कम चांसेस है की आपको इसमें कोई Error या बग मिली कोडिंग में अगर बग होता भी है तो गूगल इसे फिक्स कर के आपको अपडेट्स भेज देता है जबकि कस्टम रोम (Custom Rom) में कोई भी डेवलपर अपने हिसाब से बदलाव करता है तो इसमें आपको बहोत सारे Error और बग मिलते है और एक बार Install करने के बाद आप इसके Error को ठीक नही कर सकते Stock Rom (स्टॉक रोम) गूगल दुवारा बनाया जाता है इसलिए हम इनकी सिक्यूरिटी पे भरोसा कर सकते है जबकि Custom Rom को भी बना सकते है इसलिए इनकी सिक्यूरिटी पे भरोसा नही किया जा सकता Stock Rom में आप इनबिल्ट एंड्राइड एप्स को डिलीट नहीं कर सकते जो Mobile में पहले से Install है जबकि Custom Rom के अन्दर आप किसी भी तरह के Mobile एप्स को अनInstall कर सकते है. Stock Rom में आप फॉन्ट स्टाइल Customize  नहीं कर सकते जबकि आप Custom Rom में किसी भी तरह के Customize कर सकते है Stock Rom सेफ होता है जबकि अगर आप Custom Rom Install करते है तो इससे आपका Mobile फ़ोन ब्रिक(Brick) या फिर डेड भी हो सकता है गलत Rom Install करने पर